Food, ShaluguptaPhotography, Uncategorized

Raj Kachouri

राज कचौरी, जितनी तारीफ़ उतनी कम!! लेकिन क्या आपके दिमाग़ में भी पहली बार यही ख़याल आया था- ‘दिख तो अच्छी रही है लेकिन खाएँ कैसे?’